मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान किसी भी तरह की माफिया को दो गज जमीन मैं गाड़ देने की बात खुले मंच से कर चुके हैं। लेकिन सिवनी में माफियाओं के इतने हौसले बढ़े हुए हैं। कि यदि कोई उनके द्वारा किए जा रहे कामों का विरोध करता है। तो वह उनके ऊपर हमला करने से भी परहेज नहीं करते हैं ।।

ऐसा ही एक मामला बरघाट विधानसभा के अंतर्गत आने वाली गोरखपुर हिर्री नदी में हुआ जहां रेत का अवैध कारोबार करने वाले विक्की सूर्यवंशी ने अपने अन्य तीन साथियों के साथ मिलकर बरघाट विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी रहे नरेश बरकड़े के साथ मारपीट कर उन्हें धमकाने का प्रयास किया गया। इस पूरी घटना के बाद नरेश वरकडे बरघाट थाने में जानकारी दिया। विक्की सूर्यवंशी और अन्य तीन सहयोगियों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया है।।

प्राप्त जानकारी के अनुसार 20 फरवरी को ग्राम अतरी में अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए भाजपा नेता एवं बरघाट विधानसभा से भाजपा के प्रत्याशी रह चुके नरेश वरकडे अपने कुछ साथियों के साथ गए हुए थे। जहां मंडल अध्यक्ष के अलावा और ग्रामीण भी लोग मौजूद थे । जब ग्रामीणों ने नरेश बरकड़े को बताया कि अमित सूर्यवंशी के द्वारा अवैध रूप से रेत का उत्खनन किया जा रहा है ।।

भाजपा नेता नरेश बरकड़े रेत खदान में अपने कुछ साथियों के साथ पहुंचे और उन्होंने देखा कि रेत ठेकेदार सूर्यवंशी के द्वारा लीज में ली गई खदान को छोड़कर अन्य जगह से पोकलेन मशीन से अवैध रूप से रेत का उत्खनन किया जा रहा है और डंपर में भरा जा रहा है । मौके पर पहुंचकर नरेश ने मशीन को रोकने को कहा जिसके बाद वहां मौजूद विक्की सूर्यवंशी आक्रोशित हो गया और उसने अपने साथी अमित सूर्यवंशी, लवी राय एवं कमलेश कुमारे के साथ मिलकर नरेश के साथ विवाद करना शुरू कर दिया और धक्का-मुक्की करने लगा और कहने लगा कि तुम कोई “एसपी – कलेक्टर” हो जो तुम्हारे कहने पर हम काम रोकेंगे । ओर नरेश बरकड़े के साथ धक्का-मुक्की करने लगे । यह देख वहां मौजूद लोगों ने बीच-बचाव किया। इस पूरी घटना के बाद नरेश बरकड़े ने बरघाट पुलिस पुलिस थाना पहुंचकर घटना की जानकारी दी। बरघाट पुलिस ने अमित सूर्यवंशी,विक्की सूर्यवंशी,लवी राय एवं कमलेश कुमरे के विरुद्ध धारा 294, 323, 506, 34, 3(2) (VA), 3 (1) (द),3 (1) (ध) के तहत मामला पंजीबद्ध कर जांच में लिया है।।

पत्रकार वार्ता में नर्स पकड़े ने जानकारी देते हुए कहा कि 21 फरवरी को कलेक्ट्रेट में शिकायती आवेदन भी दिया है जिसमें उन्होंने उनके साथ हुए घटनाक्रम की विस्तार से जानकारी दिया वहीं उन्होंने कलेक्टर को दी शिकायत बोल लिखे है कि बीते दिनों जमुना खारी ग्राम में ग्रामीणों की मौजूदगी में पोकलैंन मशीन मोटर बोट एवं डंपर की तख्ती की कार्रवाई को माइनिंग विभाग द्वारा सुनकर कोई कार्यवाही नहीं की गई बार-बार फोन करने के बाद भी जला माइनिंग अधिकारी फोन नहीं उठाती है इसलिए रेत माफियाओं के हौसले बुलंद हैं।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *