Top News देश विदेश

कोरोना संक्रमण की शुरुआत में हो सकेगा इलाज , ग्लेनमार्क फार्मा ने बनाई कोरोना की दवा , DCGI ने दी मंजूरी

दिल्ली

कोरोना वायरस महामारी के बीच बड़ी खुशखबरी आ रही है । ग्लेनमार्क फार्मा कंपनी ने कोविड-19 बीमारी से पीड़ित लोगों के लिए इलाज हेतु एंटीवायरल दवा बनाने का दावा किया है । एंटीवायरस ड्रग फेविपिराविर को फेबिफ्लू ब्रांड नाम नाम से पेश किया है।।

ग्लेनमार्क फार्मा कंपनी के अनुसार फेबिफ्लू दवा के निर्माण के लिए और मार्केटिंग के लिए भारतीय औषधि महानियंत्रक से अनुमति मिल गई है । कंपनी ने यह भी बताया कि फेबिफ्लू कोविड-19 इलाज के लिए फेविपिराविर दवा को मंजूरी मिल गई है ।।

ग्लेमार्क फार्मास्युटिल्स के चेयरमेंन एवं प्रबंध निर्देशक ग्लेन सल्दान्हा ने बताया कि यह मंजूरी ऐसे समय मिली है जब भारत में कोरोनावायरस बहुत तेजी से फैल रहा है और कोरोनावायरस के मामले पहले की तुलना में अधिक तेजी से सामने आ रहे हैं इससे हमारी स्वास्थ्य सेवा प्रणाली काफी दबाव में है । उन्होंने दावा किया कि फेबिफ्लू जैसे प्रभावी इलाज की उपलब्धता से इस दबाव को काफी हद तक कम करने में मदद मिलेगी । सल्दान्हा ने बताया की क्लीनिकल परीक्षणों में फेबिफ्लू मैं कोरोनावायरस के हल्के संक्रमण से पीड़ित मरीजों पर काफी अच्छे नतीजे दिखाएं हैं ।।

उन्होंने बताया की यह खाने वाली दवा है जो इलाज का एक सुविधाजनक विकल्प है उन्होंने कहा कि कंपनी सरकार और चिकित्सा समुदाय के साथ मिलकर काम करेगी ताकि देश भर में मरीजों को यह दवा आसानी से उपलब्ध हो सके । यह दवा चिकित्सकों की सलाह पर 103 रुयप प्रति टेबलेट के दाम पर मिलेगी । पहले दिन इसकी 1800mg की दो खुराक लेनी पड़ेगी । उसके बाद 14 दिन तक 800mg की दो खुराक लेनी होगी।।

ग्लेनमार्क फार्मा कंपनी के अनुसार मामूली संक्रमण वाले वह मरीज जो मधुमेह या दिल की बीमारी से पीड़ित हैं उन्हें भी यह दवा दी जा सकती है ।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *